BLOG DESIGNED BYअरुन शर्मा 'अनन्त'

सोमवार, 18 अगस्त 2014

श्री कृष्ण अवतार


श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई  

अधर्म नाश 
श्री कृष्ण अवतार 
दिव्य प्रकाश 

चाह वात्सल
त्रैलोक्य स्वामी कान्हा
बंधे ओखल

भरा है घड़ा
कलि कंसो के पाप
फोड़ो कन्हैया

बंशी बैरन
कृष्ण अधर सजी 
राधिका जली 

राधे गोविन्द
दो तन एक प्राण
अमर प्रेम

कान्हा अधीर
पनघट है सूना
एक सी पीड़

मन कालिंदी
कालिया माया तृष्णा
काढ़ते फन

मन मोहन
बाँसुरी बना मुझे
छेड़ दूँ तान

घने अँधेरे
ज्योतिपुञ्ज हो तुम
मेरे साँवरे

मुख में तेरे
त्रैलोक्य समाहित
तू मन मेरे 

बसे है मन
चितचोर नयन
ले गये चैन

राधा न मीरा 
समर्पित गोपिका 
कृष्ण शरण

शाश्वत प्रेम 
राधे गोविन्द छवि 
शेष है काम

राधा लजाई 
डगर पनघट 
कृष्ण कन्हाई

नाग नथैया 
मन कालिंदी पैठो 
हत कालिया

तुम हो साथ 
मिटे मन विकार 
बढ़ाना हाथ

मेरे मोहन 
चिर काल विराजो 
मन मंदिर

मनमोहन 
आन बसो मन में 
धन्य जीवन

सहस्त्र नाम 
विराट रूप प्रभू 
दया के धाम

नाम हजार 
विविध रूप ,कर्म 
रिपु संहार

नाच्यो बहुत 
धर हाथ मुरारी 
अनंत सुख