BLOG DESIGNED BYअरुन शर्मा 'अनन्त'

शुक्रवार, 20 सितंबर 2013

मेरी परछाई



"छाया" विषय पर आधारित सेदोका हिंदी हाइकू में प्रकाशित 
१)

जीवन यात्रा 
तपता मरुस्थल 
मृगतृष्णा का खेल 
थका पथिक 
कैक्टस के वन में 
तलाश रहा छांव 

२)
मुखौटे चढ़े 
भागते हुए लोग 
अजनबी शहर 
इन्हीं में कहीं 
मुझसे रूठ बैठी 
मेरी ही परछाई