BLOG DESIGNED BYअरुन शर्मा 'अनन्त'

गुरुवार, 8 अगस्त 2013

रिमझिम सावन



लगाये झड़ी
रिमझिम सावन
अँखियाँ बूढी

बादल दिखे
हरियाली सपने
आँखों में चीखे

लौटा सावन
लौटेंगी बहारे भी
उम्मीदें हरी

सावन मास
तांडव नृत्य कहीं
रचता रास

सावनी घटा
बेशकीमती रत्न
वृथा न लुटा

श्रावणी मेले
याद आये  बाबुल
गोदी के झूले

मनाती तीज
चुनड हरी ओढ़े
रूपसी मही 

हुयी जवान
नदिया बरसाती
हदें तोड़ती

सावनी घटा
ठहर कुछ पल
राहो में पिया

फिर बरसी

वादों की बदरिया

जनता प्यासी



वादों के मेघ

बरसे रुक रुक

भीगे है देश 


भूखी जनता

वादों  की रोटी सेंके

देश के नेता



कल का वादा

बीत गए बरसों

आज भी ताजा

33 टिप्‍पणियां:

  1. आपने लिखा....हमने पढ़ा....
    और लोग भी पढ़ें; ...इसलिए शनिवार 10/08/2013 को
    http://nayi-purani-halchal.blogspot.in
    पर लिंक की जाएगी.... आप भी देख लीजिएगा एक नज़र ....
    लिंक में आपका स्वागत है ..........धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मेरे छोटे से प्रयास को मंच पर साझा कर मेरा उत्साह बढाने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया @यशोदा जी :) ... apne jo links waa lagaye sarahniya hai .. muje kayi naye blogs me ghumne or naye rachnakaro ko padne ka mouka mila abhar

      हटाएं
  2. एक तीर साधा
    कई निशाने लगे
    था सोच उम्दा

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. @vibha rani ji ... wahh sundar haiku ...:) उत्साह बढाने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया

      हटाएं
  3. कल का वादा
    बीत गए बरसों
    आज भी ताजा
    ..वाह बहुत ही बढ़िया ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. उत्साह बढाने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया @kavita ji

      हटाएं
  4. बरखा लाती कही तांडव कही लास्य ….
    चुनावी मौसम में वादों की बरखा भी खूब !

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही खूबसूरत हायकू लेखन आदरणीया ,
    ......बिलकुल सावन की तरह |
    ..........................
    उत्तम पोषण कैसे दे? ब्रेन कों !पढ़िए नया लेख-
    “Mind की पावर Boost करने के लिए Diet "

    उत्तर देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. उत्साह बढाने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया @kaliprad ji :)

      हटाएं
  7. छोटी कविता
    ये हाइकू संसार
    मनमोहक


    दिल में बसे
    ये सत्रह अक्षर
    करे श्रृंगार


    आप लेखक
    सुनीता अग्रवाल
    हाइकुकार

    स्वीकार करे
    हमारी भी बधाई
    चर्चा में आज

    बहुत सुन्दर हाइकू सुनीता जी

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत अच्छे लगे सभी हायकू.

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी यह रचना कल मंगलवार (12-08-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुंदर भावपूर्ण हायकू गहरे अर्थ लिए. सुनीता जी आप का ब्लॉग अच्छा लगा इसलिए ज्वाइन कर रही हूँ जिससे आगे आगे भी आपका लिखा पढ़ सकूं.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मेरे हैकुज़ को अपने मंच पर साझा कर मेरा उत्साह बढ़ने के आपका हार्दिक आभार @अरुण शर्मा जी .. में जरुर उपस्थित होउंगी मेरा सौभाग्य होगा मुझे वह और भी रचनाकारों की उम्दा रचनाये पढने को मिलेगी |
      :)

      हटाएं
  11. बहुत ही अच्छी क्षणिकाएं .. कम शब्दो बड़े भाव

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सराहना के लिए आभार @नीरज कुमार जी .. पर ये हायकू है .. क्षणिका से भिन्न विधा है ..इसमें ५-७-५ मात्र की गिनती होती है \:)

      हटाएं