BLOG DESIGNED BYअरुन शर्मा 'अनन्त'

मंगलवार, 31 दिसंबर 2013

नवल वर्ष


विगत वर्ष
दर्पण बना रखो
देखना अक्स 



कैनवास  है
आगंतुक बरस
ईश पेंटर

नवल वर्ष 
पतझड़ पश्चात् 
वसंत पर्व