BLOG DESIGNED BYअरुन शर्मा 'अनन्त'

शनिवार, 5 अक्तूबर 2013

मातृ वंदन



जय माँ अम्बे
भव  बाधा तारिणी 
नमो नमस्ते 

सौम्य सरल 
दमके मुख मैया 
पीती गरल 

 मोक्ष दायिनी 
खल दल मर्दिनी 
भक्त वत्सला 

लाल  चुनड़
गले में मुंडमाल 
माँ का श्रृंगार

शारदोत्सव 
सिउली ,कास  करे
मातृ वंदन


पूजा  के फूल 
मंदिरों में भी भक्त
देते कुचल 

जग जननी 
भटक रहा जग 
भर ले  अंक 

मुक्तिदायिनी 
साधना भक्ति तप 
दुर्गम पथ 

चंचल चित्त 
साधू  जितना  इसे 
बहके नित 

साध्य साधता 
साधक तन मेरा मन  बाधक




12 टिप्‍पणियां:

  1. नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ|

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको नवरात्री की शुभकामनाये @अजय यादव जी :)

      हटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज रविवार (06-10-2013) हे दुर्गा माता: चर्चा मंच-1390 में "मयंक का कोना" पर भी है!
    --
    शारदेय नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  3. मैया रानी अपनी कृपा बनाये रखे । सुंदर प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. नवरात्री की हार्दिक शुभकामनाये @गजेन्द्र जी :)

      हटाएं
  4. उत्तर
    1. नवरात्री की हार्दिक शुभकामनाये आपको भी :)

      हटाएं
  5. मंगलवार 08/10/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    आप भी एक नज़र देखें
    धन्यवाद .... आभार ....

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. हार्दिक आभार @विभा दी .. जरुर उपस्थित होउंगी :) नवरात्री की मंगल कमनये

      हटाएं